डीजीपी (DGP) से सम्बंधित जानकारी

डीजीपी (DGP) का पद पुलिस विभाग का एक बहुत बड़ा पद होता है, यह पद केवल एक आईपीएस (IPS) किया हुआ व्यक्ति ही इस पद के लिए योग्य होता है|

डीजीपी (DGP) को हिंदी में ‘पुलिस महानिदेशक’ कहते है। यह किसी भी राज्य का सबसे बड़ा पुलिस विभाग का अधिकारी होता है

कैसे प्राप्त होता है पद सर्वप्रथम आपको उप पुलिस अधीक्षक (DSP) बनाया पद पर नियुक्त किया जाता है इसके बाद आपको अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ASP) पद पर कार्य करना होता है,

DGP का फुल अंग्रेजी में फॉर्म ‘Director General Of Police‘ होता है, इसका उच्चारण ‘डायरेक्टर  जनरल ऑफ़ पुलिस‘ है।

डीजीपी (DGP) के कार्य डीजीपी (DGP) का मुख्य रूप से कार्य, जिस राज्य में तैनाती होती है,

डीजीपी कैसे बने डीजीपी (DGP) बनना कोई आसान कार्य नहीं होता है, इस पद को प्राप्त करने के लिए कठिन मेहनत और कठिन परीक्षाओं से गुजरने के बाद ही इस पद की प्राप्ति होती है

डीजीपी (DGP) की योग्यता UPSC यानि की संघ लोक सेवा आयोग के एग्जाम देने के लिए अभ्यर्थी को कम से कम ग्रेजुएट पास होना जरूरी होता है,

डीजीपी (DGP) बनने के लिए आपको UPSC यानि की संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित कराई जाने वाली Civil Services की परीक्षा में भाग लेना होता है

डीजीपी (DGP) बनने के लिए आपको UPSC यानि की संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित कराई जाने वाली Civil Services की परीक्षा में भाग लेना होता है

डीजीपी (DGP) के लिए आयु सीमा डीजीपी (DGP) पद की परीक्षा के लिए आयु सीमा 21 वर्ष से 32 वर्ष तक निर्धारित की गई है |