लीची के छिलकों को आप फेस स्क्रब के रूप में इस्तेमाल कर सकती हैं। साथ ही इससे काली गर्दन और फैटी एड़ियों के लिए भी इस्‍तेमाल किया जा सकता है।

इसे अपनी गर्दन पर लगाकर स्‍क्रब करें। इससे डेड सेल्‍स निकल जाएंगे और आपकी गर्दन साफ नजर आएगी।

अधिकांश डिशवॉशिंग साबुनों में एक्टिव तत्व के रूप में लाइम होता है क्योंकि यह गंदे बर्तनों से सख्त दाग और ग्रीस को हटाने में मदद करता है।

इसके अलावा, आप काली गर्दन से छुटकारा पाने के लिए लीची के छिलकों का इस्‍तेमाल कर सकती हैं। इसके लिए लीची के छिलके को पीसकर नारियल तेल और हल्दी मिलाकर पेस्ट बनाएं।

आमतौर पर हम लीची के छिलकों को कूड़ा समझकर फेंक देते हैं। लेकिन हम में से बहुत सी महिलाएं यह नहीं जानती हैं

हमारे बगीचे के पौधों को लीची के छिलके से बड़ी मात्रा में पोषक तत्व मिल सकते हैं। लीची के छिलके पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम जिंक जैसे मिनरल्‍स का एक बड़ा स्रोत हैं

जो पौधों की उचित वृद्धि और हमारे बगीचे में सब्जियों के उत्पादन को अधिकतम करने के लिए आवश्यक हैं। तो आप इस प्राकृतिक जैविक खाद को बहुत ही आसानी से जीरो कॉस्ट के साथ घर पर बना सकती हैं।

चाहे आप कई सालों से खाना बना रही हों या रसोई में शुरुआत कर रही हों, कभी-कभी खाना बनाते समय आपके बर्तन जल सकते हैं।

हमेशा प्राकृतिक जैविक खाद बाजार में उपलब्ध किसी भी प्रकार के रासायनिक उर्वरकों से बेहतर होती है।

इसे अपने जले हुए बर्तनों से बाहर निकालने की जरूरत नहीं है क्योंकि, लीची के छिलकों से बने पाउडर आपकी मदद कर सकता है।

जो महिलाएं जले हुए नॉन-स्टिक पैन को साफ करने में रुचि रखते हैं, उनके लिए नींबू का रस और लीची के छिलकों का पाउडर वास्तव में मददगार साबित हो सकता है।