UPI Loan Facility : अब घर बैठे चुटकियों में मिलेगा UPI से लोन, RBI ने किया बड़ा ऐलान….

[ad_1]

UPI Loan Facility : अब बैंक से लोन मिलना और भी आसान हो गया है, इसके लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने बैंको को नए दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। अप्रैल के महीने में RBI ने मॉनिटरी पॉलिसी की बैठक में यूपीआई के दायरे को बढ़ाने के लिए उसमें क्रेडिट लोन को जोड़ने का प्रस्ताव दिया था और अब इसको लेकर आरबीआई ने घोषणा भी कर दी है।

कैसे काम करेगा यूपीआई लोन?

नए दिशा निर्देश के अनुसार, अब आपको लोन लेने के लिए बैंक जाने की या इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग करने की जरूरत नहीं है। आरबीआई के नए दिशा निर्देश अनुसार अब बैंक आपको यूपीआई यानी यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस पर प्री-सेंक्शंड लोन देने की सुविधा देगा। इस फैसले का उद्देश्य यूपीआई पेमेंट सिस्टम को बढ़ावा देना है, आइए जानते हैं इस विषय में आरबीआई ने क्या कहा है।

सभी तरह के खाते जुड़ेंगे यूपीआई से

आरबीआई ने कहा कि अब सेविंग अकाउंट, ओवरड्राफ्ट अकाउंट, प्रीपेड वॉलेट और क्रेडिट कार्ड को भी यूपीआई से जोड़ा जा सकता है और इस तरह क्रेडिट अकाउंट को अब फंडिंग अकाउंट के रूप में शामिल करके इसे एक्सपेंड किया जाएगा, जिससे पर्सनल कस्टमर्स इसकी सुविधा उठा सकें।

पॉलिसी और बैंक अप्रवूल नियम

यूपीआई लोन को पूरा करने के लिए बैंक को अप्रूवल की जरूरत होगी और इसके लिए बैंक को दिशा निर्देश भी तय करने होंगे। इस नियम को लागू करने से पहले कुछ बिंदुओं को समझना होगा जैसे

  • लोन कितना दिया जा सकेगा।
  • ब्याज की दर क्या होगी।
  • लोन किन लोगों को दिया जाएगा।
  • लोन की अवधि कितनी होगी।
  • जब इन बातों पर विचार कर लिया जाएगा तब जाकर इस पर अमल किया जा सकेगा।

क्यों किया गया यूपीआई लोन पर विचार?

1 सितंबर को जारी की गई नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन की रिपोर्ट के अनुसार अगस्त महीने में रिकॉर्ड यूपीआई ट्रांजेक्शन यानी (10 बिलियन) ट्रांजेक्शन हुए हैं, जिसकी वैल्यू 15.18 लाख करोड़ रुपए है। वहीं जुलाई के 9.9 अरब ट्रांजेक्शन हुए थे और अगस्त में महीने में प्रतिदिन UPI से 330 मिलियन ट्रांजेक्शन हुए हैं।इस

[ad_2]

यह भी पढ़ें –
[catlist]

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply