New Traffic Rule: कार चालकों को महंगे पड़ेंगे ये ट्रैफिक नियम, जानें सरकार का नया मास्टर प्लान

[ad_1]

न्यूज़ डेस्क: देश में ट्रैफिक नियमों को बनाए रखने के लिए हर शहर में ट्रैफिक पुलिस तैनात की जाती है, ताकि वह ट्रैफिक नियमों (New Traffic Rule) का उल्लंघन करने वालों का चालान काट सके और उन्हें अगली बार नियमों का उल्लंघन न करने की हिदायत दे सके। लेकिन अब इस बदलते दौर में जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, जिनसे निगरानी कर चालान काटा जाता है और चालान की सूचना सीधे वाहन के रजिस्टर्ड पते पर भेज दी जाती है। ऐसे में कई बार लोगों को पता ही नहीं चलता कि उनका चालान कट गया है। अगर आपका चालान 5 दिन से ज्यादा समय से पेंडिंग है तो यह आपके वाहन के लिए खतरा साबित हो सकता है।

सरकार ने बनाया मास्टर प्लान

दरअसल, दिल्ली में ट्रैफिक नियम तोड़ने और ट्रैफिक चालान न भरने वालों के खिलाफ सरकार ने मास्टर प्लान बनाया है। जिसके तहत अगर दिल्ली में कोई वाहन मालिक लगातार ट्रैफिक चालान नहीं भरता है तो उसकी गाड़ी को काफी नुकसान हो सकता है। उनके वाहनों को ऑनलाइन फिटनेस सर्टिफिकेट नहीं मिलेगा। साथ ही मालिक अपनी कार नहीं बेच पाएगा। वहीं इस तरह की गाड़ियों को नॉन-ट्रांजैक्शन कैटेगरी रखा जायेगा।

क्या है नया ट्रैफिक नियम

विभाग ने तय किया है कि अगर 5 से ज्यादा चालान पेंडिंग होंगे तो उन लोगों को ऑनलाइन सुविधाओं का लाभ नहीं मिलेगा। लोगों को वाहन स्वामित्व बदलने, वाहन फिटनेस प्रमाणपत्र प्राप्त करने या सरकारी पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन अन्य सेवाओं तक पहुंचने से रोक दिया जाएगा। चालान नहीं भरने वाले वाहन चालकों की ई-वाहन पोर्टल तक पहुंच रोक दी जा रही है। विभाग की ओर से 5000 से ज्यादा ड्राइवरों को ट्रांजैक्शन कैटेगरी में रखा गया है। इससे आप किसी भी प्रकार के ऑनलाइन पोर्टल तक नहीं पहुंच पाएंगे।

[ad_2]

यह भी पढ़ें –
[catlist]

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply