Indian Railway : अब स्लीपर के टिकट पर करें AC की यात्रा, 90% लोग नहीं जानते ये तरीका…

[ad_1]

Auto Upgradation Scheme in IRCTC : देश में हर रोज हजारों ट्रेनों का संचालन भारतीय रेलवे (Indian Railway) द्वारा किया जाता है और इसलिए भारतीय रेलवे को देश की जीवन रेखा भी कहा जाता है। हर रोज रेलवे (Railway) के माध्यम से दो करोड़ से अधिक लोग अपना सफ़र पूरा करते हैं। यात्रा के समय यात्रियों को किसी प्रकार की परेशानी ना हो इसलिए भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने कई सारे नियमों की लिस्ट भी बना रखी है।

अगर आप लोग भी अक्सर ट्रेन में सफर करते रहते हैं तो आज हम आपको एक ऐसे ही खास नियम के बारे में जानकारी देने वाले हैं। हम बात करने वाले हैं आज टिकट अपग्रेडेशन के बारे में। इस दौरान अगर आपने स्लीपर कोच में टिकट बुकिंग किया है तो वह अपडेट होकर एसी क्लास में कन्वर्ट हो जाता है। कैसे, आइये बताते है विस्तार से….

भारतीय रेलवे (Indian Railway) द्वारा टिकट बुकिंग के समय ऑटो अपग्रेडेशन (Auto Upgradation) का विकल्प दिया जाता है और अगर आप इस विकल्प का चुनाव करते हैं तो यात्रा के दौरान आपकी टिकट ऑटो अपग्रेड हो जाती है। रेलवे (Indian Railway) द्वारा बनाया गया यह नियम बेहद शानदार है।

अगर ट्रेन का चार्ट (Train Chart) तैयार होने पर थर्ड एसी कोच में सीट खाली है तो आपकी स्लीपर कोच की बुकिंग वाली टिकट अपग्रेड होकर थर्ड एसी में कन्वर्ट हो जाती है। आपको बता दें कि टिकट अपग्रेडेशन के तहत आपकी सीट एक श्रेणी ऊपर अपग्रेड कर दी जाती है।

इसमें स्लीपर क्लास (SL) से थर्ड एसी, थर्ड एसी (3AC) से सेकेंड एसी (2AC) और सेकेंड एसी से फर्स्ट एसी में चला जाता है। इसके साथ ही अगर आपका टिकट ऑटो अपग्रेड (Auto Upgrade) होता है तो इसके लिए कोई अन्य शुल्क नहीं लिया जाता है। यह रेलवे (Railway) के नियमों के दौरान आपको फ्री सुविधा दी जाती है।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि आपका टिकट तभी अपग्रेड होता है जब चार्ट तैयार होने के बाद एसी कोच में कोई बर्थ खाली होती है। आपको भी कभी ना कभी भारतीय रेलवे (Indian Railway) के इस नियम का फायदा जरूर मिला होगा।

[ad_2]

यह भी पढ़ें –
[catlist]

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply