Currency Printing Cost : जानें नोट छापने में कितना आता है खर्च? जानकर नहीं होगा यकीन

[ad_1]

Currency Printing Cost : आप तो जानते हैं कि इस समय हर जगह 2000 रुपये के नोटों को लेकर ही चर्चा चल रही है। वहीं RBI की तरफ से ही बाजार में चलने वाले 2000 रुपये के नोट के चलन को 19 मई 2023 को बंद कर दिया था और इसे बदलवाने के लिए 30 सितंबर अंतिम तारीख थी जिसे 7 अक्टूबर तक बढ़ा दिया गया है। वहीं RBI द्वारा अलग-अलग कीमत के नोट की छपाई भी की जाती। RBI को 2000 का नोट छापने में करीब ₹4 का खर्च (Note Printing Cost) आता है। 2018 में 2000 के नोट की छपाई 4.18 रुपये थी जो बाद में 3.53 रुपये हो गई।

लेकिन हैरान करने वाली बात ये है कि सबसे ज्यादा खर्च 10 रुपये के नोट छापने में आता है। 10 रुपये के 1000 नोट छापने में करीब 960 रुपये का खर्च (Note Printing Cost) आता है। इसका मतलब हुआ कि नोट छापने की लागत उसके अंकित मूल्य से ज्यादा है। आइये आपको बताते है अलग-अलग नोट छापने में आने वाला खर्च…..

  • 100 रुपये के 1000 नोट छापने में RBI को करीब 1,770 रुपये का खर्च आता है।
  • 200 रुपये के 1000 नोट छापने में RBI को 2,370 रुपये खर्चा आता है।
  • 500 रुपये के 1000 नोट छापने में 2,290 रुपये का खर्च RBI को आता है।

इसके साथ ही आपको बता दें कि 1 सितंबर तक RBI के पास चलन से बाहर किए गए 2000 रुपये के नोट का कुल 93% वापस आ चुका था। इसके साथ ही 31 अगस्त तक बैंकों में जमा किए गए 2000 रुपये के नोटों का मूल्य करीब 3.32 लाख करोड़ रुपये था।

इसके अलावा RBI के 19 रीजनल दफ्तरों में 2000 रुपये के 10 नोट बदलवा सकते है, जिसकी अंतिम तारीख 30 सितंबर से बढ़ाकर 7 अक्टूबर कर दी गई है। इसके अलावा आप देश के किसी भी बैंक में 2000 रुपये के नोट आसानी से बदलवा सकते है। इसके अलावा कोई भी नागरिक और संस्था पोस्ट कार्ड के माध्यम से 2000 रुपये के नोट अपने खाते में जमा करने के लिए RBI के 19 रीजनल ऑफिस में से किसी में भी भेज सकते है।

[ad_2]

यह भी पढ़ें –
[catlist]

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply