Charging Station : अब बिहार में बिना टेंशन के चलेगी इलेक्ट्रिक कारें, इन 8 जिलों में खुलेंगे 190 से ज्यादा चार्जिंग स्टेशन

[ad_1]

न्यूज डेस्क: देश में इलेक्ट्रिक वाहनों को तेजी से बढ़ावा दिया जा रहा है। सरकार इसके लिए हर संभव प्रयास भी कर रही है। यह धीरे-धीरे इलेक्ट्रिक वाहन बाजार में भी अपना पैर पसारने में सफल हो रही है। लेकिन आज भी इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज करने के लिए हर जगह चार्जिंग स्टेशन (Charging Station) उपलब्ध नहीं हैं।

इसी कड़ी में बिहार में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए करीब 190 चार्जिंग स्टेशन खोले जा रहे हैं। चार्जिंग स्टेशन को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर पटना, गया, भागलपुर, मुजफ्फरपुर, पूर्णिया, भोजपुरी, सारंग गोपालगंज में शुरू किया जाएगा। सरकार की योजना के मुताबिक 2024 तक इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या के हिसाब से चार्जिंग स्टेशन बढ़ाए जाएंगे।

पेट्रोल पंपों या उसके आसपास चार्जिंग सेंटर शुरू करने के लिए लोगों से आवेदन लिए जाएंगे। ताकि चार्जिंग सेंटर पर हर दिन छोटी-बड़ी गाड़ियां चार्ज हो सकें, सेंटर का क्षेत्रफल क्या होगा और इस साल इन जिलों से इसे लेकर आवेदन मांगे जाएंगे। चार्जिंग एरिया में निजी और सरकारी बसें, कार, बाइक सभी तरह के वाहन चार्ज हो सकेंगे। इसके लिए विभागीय स्तर पर यूनिट के आधार पर पैसा लिया जायेगा। इसे निजी साझेदारी में भी शुरू किया जाएगा, ताकि इलेक्ट्रिक वाहनों की चार्जिंग में सुविधा हो सके।

आपको बता दें कि जनवरी से सितंबर तक जिले भर में कुल 7171 विभिन्न प्रकार के इलेक्ट्रिक वाहनों का निबंधन जिला परिवहन कार्यालय में किया गया है। इसमें ई-रिक्शा की संख्या सर्वाधिक 4180 है। इसके बाद स्कूटर या मोटरसाइकिल की संख्या 2379 है। इलेक्ट्रिक कार की संख्या 285 है। पंजीकृत तीन पहिया इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या 308 है। वहीं बीएसआरसीटीसी के पास 25 ई बस सिटी सेवा के लिए बसें उपलब्ध हैं।

[ad_2]

यह भी पढ़ें –
[catlist]

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply