Short info :– आज हम बात करने वाले हैं। एक ऐसा लेखिका के बारे में जो कि दिल्ली की रहने वाली है। इन्होंने इस उपन्यास को इस तरह से अपने शब्दों में सजोया की इनको इस

गीतांजलि श्री का हिंदी उपन्यास ‘टॉम्ब ऑफ सैंड’ प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार जीतने वाली किसी भी भारतीय भाषा की पहली किताब बन गई है।

रेत का मकबरा मूल रूप से ‘रिट समाधि’ का अनुवाद डेज़ी रॉकवेल ने किया था। उपन्यास सीमा पार करने वाली 80 वर्षीय नायिका पर आधारित है।

मैंने कभी बुकर का सपना नहीं देखा था, मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं कर सकती हूं। कितनी बड़ी मान्यता है, मैं चकित, प्रसन्न, सम्मानित और विनम्र हूं। इस पुस्तक को लेकर

इस पुस्तक का अंग्रेजी में अनुवाद किया गया है। 50,000 पाउंड 63,000 डॉलर की पुरस्कार राशि श्री और रॉकवेल के बीच विभाजित की जाएगी।

मैंने कभी बुकर का सपना नहीं देखा था, मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं कर सकती हूं। कितनी बड़ी मान्यता है, मैं चकित, प्रसन्न, सम्मानित और विनम्र हूं, इस पुस्तक के वजह से गीतांजलि श्री ने अपने स्वीकृति भाषण में यह बात कहा।

और इसी में इन्होंने यह भी कहा कि इसमें दी जाने वाले पुरस्कार में एक उदासी भरा संतोष है। ‘रेत समाधि/रेत का मकबरा’ उस दुनिया के लिए एक शोकगीत है जिसमें हम निवास करते हैं।

एक स्थायी ऊर्जा जो आसन्न कयामत के सामने आशा बनाए रखती है। उन्होंने यह भी कहा कि यह बुकर पुरस्कार निश्चित रूप से इसे कई और लोगों तक ले जाएगा, अन्यथा यह पुस्तक को कोई नुकसान नहीं पहुंचाएगा।

इसी बीच उन्होंने यह कहा कि यह किताब की 80 वर्षीय नायिका मा, अपने परिवार की व्याकुलता के कारण, पाकिस्तान की यात्रा करने पर जोर देती है, साथ ही साथ विभाजन के अपने किशोर अनुभवों

के अनसुलझे आघात का सामना करती है, और एक माँ, एक बेटी होने का क्या मतलब है, इसका पुनर्मूल्यांकन करती है। महिला, नारीवादी।

तीन उपन्यासों और कई कहानी संग्रहों के लेखक, 64 वर्षीय श्री ने अपने कार्यों का अंग्रेजी, फ्रेंच, जर्मन, सर्बियाई और कोरियाई में अनुवाद किया है।

मूल रूप से यह किताब 2018 में हिंदी में प्रकाशित, हुई थी। जो ‘सैंड का मकबरा’ अगस्त 2021 में टिल्टेड एक्सिस प्रेस द्वारा यूके में अंग्रेजी में प्रकाशित होने वाली उनकी पहली पुस्तक है।

गीतांजलि श्री के उपन्यास को छह पुस्तकों की एक शॉर्टलिस्ट से चुना गया था, क्योंकि आप सभी देख पा रहे हैं यह एक काफी फेमस उपन्यास में से एक है जो कि 2022 में ही प्रकाशित हुई है तो यह थी कुछ जानकारी जो कि इस उपन्यास से जुड़ी हुई है।

Conclusion :- मुझे आशा है कि आपको यह जानकारी काफी पसंद आया होगा जोकि गीतांजलि श्री द्वारा रचित एक काफी फेमस उपन्यास में से एक है यदि आपको यह जानकारी अच्छा लगा हो तो अपना फीडबैक कमेंट के माध्यम से जरूर दें धन्यवाद।

Read also :- शुक्र का कुंभ राशि में गोचर,31 मार्च,2022

By Madhuri

..