जेब में General Ticket होने के बावजूद भी लगेगा जुर्माना! बचने के लिए जान लें ये नियम…

monika
4 Min Read


Indian Railway : दुनिया के चौथे सबसे बड़े रेलवे नेटवर्क भारतीय रेलवे (Indian Railway) के द्वारा रोज करोड़ों लोग अपने गंतव्य तक पहुंचाते हैं और इसके लिए उन्हें मात्र बहुत ही कम किराया चुकाना होता है। देश में अधिकतर लोग भारतीय रेलवे (Indian Railway) का ही सफर करते हैं।

इसके साथ ही वह अपने मनपसंद सीट बुक करवा कर सफर पूरा कर सकते हैं और जनरल बोगी का टिकट लेकर भी अपना सफर पूरा कर सकते हैं। जो लोग कम दूरी की यात्रा करते हैं वह अक्सर जनरल बोगी का टिकट लेकर ही यात्रा करते हैं। लेकिन रेलवे का एक ऐसा नियम जनरल टिकट को लेकर बनाया गया है जिसके बारे में रोज सफर करने वालों को भी नहीं पता है।

आज हम आपको भारतीय रेलवे (Indian Railway) के ऐसे ही नियम के बारे में बताने जा रहे हैं। इसके बारे में लोगों को नहीं पता है और जब इसका उल्लंघन करने पर TTE उन्हें पकड़ता है तो आपको जुर्माना भरना पड़ता है। आपको पता है कि जनरल टिकट (General Ticket) की वैलिडिटी कुछ ही देर की होती है। अगर आप निश्चित समय तक ट्रेन में सवार नहीं होते हैं तो आपको जुर्माना देना पड़ता है।

ये है नियम

भारतीय रेलवे (Indian Railway) के नियम के अनुसार अगर आप 199 किलोमीटर की दूरी तक की यात्रा कर रहे हैं तो जनरल टिकट (General Ticket) लेने के 3 घंटे के अंदर आपको ट्रेन में सवार होना पड़ता है। लेकिन अगर 200 किलोमीटर से अधिक की ट्रेन यात्रा करते हैं तो 3 दिन पहले जनरल टिकट खरीद सकते हैं। अगर कोई व्यक्ति 199 किलोमीटर की यात्रा कर रहा है तो उसे जनरल टिकट लेने के बाद पहली ट्रेन लेनी होगी या फिर अगले तीन घंटे के अंदर उसे ट्रेन में सवार होकर जाना होगा।

भरना होगा जुर्माना

भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने यह नियम साल 2016 में बनाया था। अगर कोई व्यक्ति 199 किलोमीटर तक की यात्रा के लिए जनरल टिकट (General Ticket) लेकर कोई भी आदमी 3 घंटे के बाद यात्रा करता हुआ पाया जाता है तो उसे बिना टिकट के मानकर जुर्माना लिया जाता है। अगर आप टिकट लेने के 3 घंटे की भीतर यात्रा नहीं करते हैं तो आप न तो उसे कैंसिल करवा सकते हैं और ना ही किसी दूसरे ट्रेन में सवार होकर जा सकते हैं।

इसलिए बनाया गया ये नियम

कुछ लोग पहले जनरल टिकट लेकर पूरे दिन ट्रेन में सफर करते थे, इसी धोखाधड़ी को रोकने के लिए भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने ये नियम बनाया है। इसके बाद ही जनरल टिकट से सफर करने की समयसीमा तय की गई है। कई लोग तो गैंग के रूप में ही इसका गलत फायदा उठाते थे। ऐसे लोग अपना सफर पूरा होते ही दूसरे यात्रियों को अपना टिकट दे देते थेऔर उनका सफर सस्ते में हो रहा था। भारतीय रेलवे को इससे काफी आर्थिक नुकसान हो रहा था। इस चालबाजी को रोकने के लिए ही भारतीय रेलवे ने यह नियम बनाया है।



यह भी पढ़ें –

Share This Article
Leave a comment