Railway में किन यात्रियों को मिलती है किराए में छूट? क्या आपको भी मिलेगा फायदा? जानें-

monika
3 Min Read

[ad_1]

Indian Railway : रेलवे देश में आगमन का सबसे बड़ा और सरल माध्यम माना जाता है. अक्सर हम रेलवे की टिकट को लेकर मारामारी देखते हैं. ट्रेन में सफर करना तो आसान होता है और इससे बाकी सभी साधनों की तुलना में काफी कम किराए में अधिक से अधिक दूरी का सफर किया जा सकता है. लेकिन भारतीय रेलवे की ओर से ट्रेन में सफर करने वाले लोगों को किराए में कई तरह की छूट दी जाती है.

अब कई लोग ऐसे भी हैं जिन्हें रेलवे की ओर से अतिरिक्त छूट दिया जाता है। जैसे की खिलाड़ी, डॉक्टर, मरीज, सीनियर सिटीजन, स्वतंत्रता सेनानी, दिव्यांग, युद्ध लड़ने वाले सेना के नौजवान, और मान्यता प्राप्त प्रतिकारों को, जवानों की विधवा पत्नी, कलाकार, खिलाड़ी, पुरस्कार विजेता, नर्स आदि शामिल है.

रेलवे टिकट में छूट पाने के लिए कर क्या है नियम ?

दरअसल, ट्रेन यात्रा में मिलने वाली छूट अलावा अन्य सुविधाओं में कोई तरह की छूट नहीं मिल पाती है. जैसे की सुपरफास्ट रिजर्वेशन चार्ज फीस की पर भी कोई छूट नहीं मिलता है. कुछ मामलों में राजधानी शताब्दी और जन शताब्दी ट्रेन में भी सुविधा मिल जाती है.

लेकिन ट्रेन में यात्रा करते समय किराए में मिलने वाली छूट ट्रेन की क्रांतिकारी पर ही निर्भर करता है कि, वह सुपरफास्ट है या फिर एक्सप्रेस के अलावा कोई स्पेशल ट्रेन है. इसके अलावा यात्रा में मिलने वाली छूट केंद्र और राज्य सरकार या विश्वविद्यालय के द्वारा आयोजित स्कूल, कॉलेज के कार्यक्रम में जाने वाले स्टूडेंट को मिलता है.

इन लोगों मिलता है किराए में राहत

रेलवे में सफर करने वाले स्टूडेंट गैर संक्रामक रोगी, विकलांग व्यक्ति, टीवी और कैंसर का मरीज, किडनी रोगी, मानसिक रूप से मांड्या व्यक्ति को 300 किलोमीटर की दूरी के लिए छोड़ दिया जाता है. वहीं युद्ध में शहीद हुए जवानों की पत्नी को, संचालन के शहीदों की विधवा पत्नी को, आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई में मारे गए रक्षा कर्मियों की पत्नी, राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता, शिक्षक पुलिस कर्मियों की विधवा, माता-पिता राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता आदि शामिल है.

कैसे उठा सकते है लाभ ?

रेलवे यात्रियों को इस छठ का लाभ रेलवे काउंटर पर ही मिल जाता है. अगर कोई व्यक्ति टिकट के बिना ट्रेन में प्रवेश करता है तो उसकी रियायत के अलावा उसे बढ़ाकर यात्रा देना होता है. वहीं अगर कोई व्यक्ति बिना टिकट के ट्रेन में सफर करने की सोचता है या फिर ट्रेन में सफर करते हुए पकड़ा जाता है तो उसे उसे दौरान कोई रियायत नहीं दिया जाता है. इसके अलावा ट्रेन में मिलने वाली सुविधा के साथ-साथ टिकट में मिलने वाली छूट पर भी किसी तरह के कोई छूट नहीं दी जाती है.

[ad_2]

यह भी पढ़ें –
[catlist]

Leave a comment