नवोदय विद्यालय में कराना है कक्षा 6 बच्चों का एडमिशन, ये है आवेदन की आखिरी तारीख..

monika
4 Min Read

[ad_1]

नवोदय (Navodaya) विद्यालय में एडमिशन के लिए आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन माध्यम से शुरू हो गई है. एडमिशन लेने के लिए अभ्यर्थी नवोदय विद्यालय की आधिकारिक वेबसाइट navodaya.gov. in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं. कक्षा 6 में नामांकन के लिए अभ्यर्थी 25 अगस्त तक आवेदन कर सकते हैं.

हालांकि, इससे पहले अंतिम तिथि 10 अगस्त जारी की गई थी लेकिन अब यह डेट 25 अगस्त तक बढ़ा दिया गया है. 1 में 2012 से लेकर 31 जुलाई 2014 के बीच के जन्म तिथि वाले छात्र आवेदन कर सकते हैं, इसके साथ-साथ छात्र 2023 और 2024 में कक्षा पांचवी पास होना चाहिए.

केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही Navodaya विद्यालय में निशुल्क सुविधा दी जाती है. हालांकि अभी गया जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय जेठियन तथा जवाहर नवोदय विद्यालय शेरघाटी में कक्षा 6 के लिए कुल 120 सीटों पर आवेदन लिया जा रहा है. जिसमें जेठियन में 80 तो शेरघाटी में 40 सीटों पर नामांकन परक्रिया शुरू है. आवेदन पूरा होने के बाद सभी छात्रों की एक परीक्षा ली जाएगी और उसमें प्राप्त अंक के अनुसार बच्चों का दाखिला लिया जाएगा.

नवोदय विद्यालय में छात्रों को मिलती है ये सुविधा

नवोदय (Navodaya) विद्यालय भारत के लगभग हर राज्य के सभी जिलों में खोला गया है. बिहार के गया जिले में ही दो नवोदय विद्यालय खोले गए हैं. जहां रहने वाले छात्र और छात्राओं को अलग-अलग हॉस्टल, कॉपी, किताब, ड्रेस, डेली यूज समान, खाने की व्यवस्था निशुल्क दी जाती है. यहां कक्षा 6 से लेकर कक्षा 12 तक के छात्र-छात्राओं को पूरी तरह निशुल्क शिक्षा दी जाती है.

इसके अलावा कक्षा 9 से लेकर कक्षा 12वीं तक के समान वर्ग के छात्रों को ₹600 प्रतिमा सरकार की ओर से दिया जाता है. वहीं अगर कोई बीपीएल परिवार से छात्र आता है तो वह इस सुविधा से वंचित रहेगा. इसके अलावा लड़कियों के लिए कक्षा 6 से लेकर 12वीं तक की पढ़ाई का पूरा खर्च केंद्र सरकार उठाती है.

बच्चों के विकास पर पूरी तरह दिया जाता है जोर

दरअसल गया जिले के नवोदय (Navodaya) विद्यालय के प्रधानाचार्य ने कहा कि कक्षा 6 में एडमिशन लेने के लिए अंतिम तिथि 25 अगस्त कर दी गई है. यहां 80 सीटों पर 1000 आवेदन प्राप्त हो चुके हैं हालांकि अभी 2000 छात्र आवेदन के लिए बाकी हैं. क्योंकि हर साल लगभग 3000 से अधिक छात्र एडमिशन के लिए आवेदन करते हैं.

प्रधानाचार्य ने लोगों से अपील करते हुए कहा है कि वह अपने बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए नवोदय विद्यालय में जरूर नामांकन करवाए. नवोदय विद्यालय में छात्रों के विकास पर अधिक जोर दिया जाता है यही वजह होती है कि, वह यहां से पढ़ाई करने के बाद देश के अलग-अलग कोने में जाकर अच्छी पैकेज के साथ नौकरी करते हैं. चाहे वह किसी भी सेक्टर इंजीनियरिंग, UPSC, BPSC या फिर मेडिकल का क्षेत्र हो हर जगह बच्चे काम करने में सफल हैं.

[ad_2]

यह भी पढ़ें –
[catlist]

Leave a comment