बिटिया की पढ़ाई से लेकर शादी तक सब खर्च की टेंशन खत्म, सरकार देगी 84 लाख रुपये, जानें कैसे

[ad_1]

Sukanya Samriddhi Yojana : सरकार बेटियों के लिए कई योजनाओं पर काम कर रही है। माता पिता को बेटी के परवरिश और शिक्षा के लिए न सोचना पड़े इसलिए सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) पेश की है।

इस योजना के तहत काफी कम निवेश में बेटियों को 84 लाख रुपए की भारी भरकम राशि दी जाती है। यह राशि बेटियों को 21 साल की उम्र में मिलती है। इस राशि के इस्तेमाल से माता पिता अपनी बेटी को अच्छी शिक्षा देने के साथ साथ धूम धाम से शादी कर सकेंगे। तो आइए इस योजना के बारे में विस्तार से जानते हैं।

इस उम्र से पहले करें निवेश

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत बेटी के जन्म के बाद 10 साल की उम्र से पहले खाता खोला जा सकता है। अगर बेटी की उम्र 10 साल से ज्यादा है तो खाता खुलवाने के लिए उसके माता-पिता या अभिभावक को उसकी सहमति लेनी होगी। खाता खोलने के लिए बेटी का आधार कार्ड, माता-पिता या अभिभावक का आधार कार्ड और जन्म प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती है।

कितनी मिलती है ब्याज दर?

सुकन्या समृद्धि योजना में ब्याज दर 8% प्रति वर्ष है। यह ब्याज दर सालाना चक्रवृद्धि होती है। इसका मतलब यह है कि साल के अंत में ब्याज पर ब्याज भी मिलता है। इस तरह, ब्याज दर वास्तव में और भी अधिक बढ़ जाती है। वहीं सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश पर मिलने वाला ब्याज पूरी तरह से टैक्स फ्री है। इसके अलावा इस योजना में मिलने वाली मैच्योरिटी राशि भी टैक्स फ्री होती है।

कैसे तैयार होगा 64 लाख रुपये का फंड?

अगर आप अपनी बेटी के नाम पर सुकन्या समृद्धि योजना में हर महीने 12,500 रुपये निवेश करते हैं तो 21 साल बाद मैच्योरिटी पर आपको लगभग 64 लाख रुपये मिलेंगे। यह गणना मौजूदा ब्याज दर 8 फीसदी के आधार पर की गई है। अगर आप अपनी बेटी के जन्म के बाद इस योजना में निवेश शुरू करते हैं तो मैच्योरिटी पर आपको और भी ज्यादा पैसा मिल सकता है। उदाहरण के लिए, यदि आप अपनी बेटी के जन्म के बाद से हर महीने 12,500 रुपये का निवेश करते हैं, तो आपको 21 साल बाद परिपक्वता पर लगभग 84 लाख रुपये मिलेंगे।

[ad_2]

यह भी पढ़ें –
[catlist]

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply